Breaking

Jan 11, 2023

अखिलेश यादव ने भगवा रंग के बोर्ड पर उठाए सवाल तो योगी सरकार में मंत्री असीम अरूण ने दिया करारा जवाब।

 कन्नौज के प्रसिद्ध फूलमती मन्दिर में पत्रकारों से बात करते समय समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संग्रहालय के भगवा रंग के बोर्ड पर आपत्ति जताई थी। कल बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के मंत्री और कन्नौज सदर से विधायक ने कन्नौज पहुंच कर अखिलेश यादव की आपत्ति का करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि अखिलेश को भगवा से आपत्ति है तो ये उनकी समस्या है, हमारे लिए सभी रंग गौरवांवित करने वाले हैं।

ज्ञात हो कि एक दिन पहले ही कन्नौज के ऐतिहासिक फूलमती मन्दिर में पूजा अर्चना करने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भगवा रंग को लेकर सवाल खड़ा किया था। उन्होंने कहा कि मन्दिर का रंग भगवा है तो चलेगा, लेकिन संग्रहालय का रंग भगवा क्यों किया गया। संग्रहालय के बाहर लगा हुआ बोर्ड भी भगवा रंग का लगाया गया है। इसका क्या औचित्य हैं 

ऐसे में बुधवार को उत्तर प्रदेश सरकार के समाज कल्याण मन्त्री( स्वतंत्र प्रभार) एवं पूर्व आईपीएस असीम अरुण ने अखिलेश यादव के सवाल पर पलटवार किया है। उन्होंने कहाकि यह विडंबना है समाजवादी पार्टी की और अखिलेश यादव की। भगवा रंग की तो हमारे तिरंगे में सबसे ऊपर की पट्टी है। उनको अगर भगवा रंग से कोई कष्ट है, या कोई मतभेद है तो यह उनका निजी विचार हैं  भगवा रंग, सफेद रंग और हरा रंग ये तीनों रंग हमारे राष्ट्र की पहचान हैं, और हमें तीनों रंगों पर गौरव  हैं। जब हम मंदिर जाते हैं तो हमारी मंदिर की संस्कृति है। वहां पर आपको भगवा दिखता है। यह भी स्वाभाविक है और कोई भी योजनाएं जो आधी अधूरी बनाकर के समाजवादी पार्टी गई थी, उनको सुधार कर लागू करने का काम हमारी सरकार कर रही है।

समाज कल्याण मंत्री असीम अरुण ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के आधिकारिक हैंडल्स, हमारे पार्टी प्रवक्ता और हमारे सभी साथी बहुत ही सुसंस्कृत तरीके से व्यवहार करते हैं। भाषा और भाव की चिंता करते हैं।  अखिलेश जी से मेरा अनुरोध है कि अपने ऑफिस में सोशल मीडिया की अभद्र भाषा के प्रयोग पर रोक लगाएं। हमसे कोई गलती होती है तो उसको तुरंत ठीक भी किया जाता है, इसलिए अखिलेश जी अपने ट्विटर हैंडल को देखें ।

No comments: