Breaking

Dec 23, 2022

सुशासन सप्ताह अन्तर्गत विकास भवन में आयोजित हुई कार्यशाला

 आवासीय योजना के लाभार्थियों को प्रदान किए गए स्वीकृति पत्र

सीएम कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के हिताधिकारियों को सौंपे गये स्वीकृति पत्र

दिव्यांगजनों को सौंपी गई ट्राईसाइकिल 

बहराइच। शासन के निर्देश पर जनपद में 19 से 25 दिसम्बर 2022 तक आयोजित होने वाले ‘‘सुशासन सप्ताह-प्रशासन गांव की ओर’’ कार्यक्रम के अन्तर्गत विकास भवन सभागार में अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी आर.के. सिंह की अध्यक्षता में आयोजित हुई कार्यशाला के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के 11 लाभार्थियों को स्वीकृति-पत्र, 11 बच्चों के अभिभावकों को जन्म प्रमाण-पत्र, 05 लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड, 03 दिव्यांगजनों को ट्राईसाइकिल व सीएम कृषक दुर्घटना कल्याण योजना अन्तर्गत 05 हिताधिकारियों को स्वीकृत पत्र का वितरण किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने कहा कि केन्द्रीय लोक शिकायत निवारण प्रणाली में लम्बित लोक शिकायतों का निराकरण, स्टेट पोर्टल (आईजीआरएस) में प्राप्त लोक शिकायतों का निराकरण, ऑनलाइन सर्विस डिलीवरी की सेवाओं में वृद्धि लाए जाने के उद्देश्य से ‘‘सुशासन सप्ताह-प्रशासन गांव की ओर’’ कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। डॉ. चन्द्र ने कहा कि इस आयोजना के पीछे केन्द्र व राज्य सरकार की दूरदर्शी सोंच परिलक्षित हो रही है। डीएम डॉ. चन्द्र ने बताया कि शासन की मंशानुरूप सुशासन सप्ताह के सफल आयोजन के लिए लोकतंत्र की सशक्त इकाई ग्राम पंचायतों में चौपाल का आयोजन लोगों को विकास योजनाओं से लाभान्वित करने के साथ-साथ उनकी समस्याओं का निस्तारण कराया जा रहा है। कार्यशाला के दौरान डीएम ने जिले में किए गए नवाचार तथा गोवंशों के हरे चारे के लिए नैपियर घास के लिए संचालित अभियान की उपलब्धियों पर भी प्रकाश डाला। डीएम ने जिले के अधिकारियों एवं कर्मचारियों का आहवान किया कि पूरी लगन व परिश्रम के साथ शासन द्वारा संचालित ‘‘सुशासन सप्ताह-प्रशासन गांव की ओर’’ अभियान को सफल बनाएं। मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना ने बताया कि नीति आयोग द्वारा निर्धारित सूचकांकों कृषि, स्वास्थ एवं पोषण, इंफ्रास्ट्रक्चर, वित्तीय समावेशन, कौशल विकास, शिक्षा इत्यादि के क्षेत्र में आकांक्षात्मक जनपद बहराइच द्वारा उल्लेखनीय उपलब्धि अर्जित की गई है। सीडीओ ने कहा कि मा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के 01 ट्रिलियन अर्थ व्यवस्था को प्राप्त करने के लिए जिले द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कृषि प्रधान जनपद बहराइच में कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण आधारित उद्योगों की स्थापना के साथ-साथ प्राकृतिक खेती को भी बढ़ावा देने के प्रयास किए जा रहे हैं। सीडीओ ने कहा कि डीएम डॉ. चन्द्र द्वारा जिले कें आर्गेनिक उत्पादों के निर्यात के प्रयास किए जा रहे हैं। कार्यशाला के दौरान उप निदेशक कृषि टी.पी. शाही ने विभाग द्वारा संचालित योजनाओं एवं कार्यक्रमों तथा कृषकों की आय को दोगुणा करने हेतु किए जा रहे प्रयासों केे बारें मे जानकारी प्रदान की गई।कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त आई.ए.एस. आर.के. सिंह ने कहा कि उर्जावान जिलाधिकारी के नेतृत्व में जिम्मेदार अधिकारियों की टीम द्वारा जिले के विकास में सक्रिय सहयोग प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ‘‘सुशासन सप्ताह-प्रशासन गांव की ओर’’ कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य यही है कि लोगों तक विकास की रोशनी के साथ उनकी समस्याओं का त्वरित निस्तारण भी कराया जाय। श्री सिंह ने कहा कि योजनाएं एवं कार्यक्रम सरकार द्वारा बनाई जाती है परन्तु उन्हें धरातल पर कार्यान्वित करना अधिकारियों की जिम्मेदारी है। श्री सिंह ने अपने अनुभवों का साझा करते हुए अधिकारियों का आहवान किया कि ज़रूरतमन्द लोगों की समस्याओं का समयबद्ध निस्तारण करने से शासन व प्रशासन के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ता है। श्री सिंह ने कहा कि गांवों में चौपाल का आयोजन कर लोगों तक विकास योजनाओं को पहुॅचाना तथा उनकी समस्याओं का निस्तारण करना ही वास्तविक सुशासन है। श्री सिंह ने जिले के विकास हेतु अधिकारियों को बधाई देते हुए भविष्य के शुभकामनाएं भी दीं। गोष्ठी का संचालन कवि एवं शिक्षक संतोष सिंह ने किया। दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी बी.पी. सत्यार्थी द्वारा स्वागतगीत तथा क्षेत्रीय आयुर्वेद एवं यूनानी अधिकारी डॉ. अशोक पाण्डेय ‘गुलशन’ द्वारा काव्यपाठ तथा राज कुमार द्वारा देशभक्तिगीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के अन्त में डीएम व सीडीओ ने मुख्य अतिथि को ओडीओपी योजनान्तर्गत गेहूॅ के डण्ठल से निर्मित कलाकृति भेंट की गई। इस अवसर पर प्रशासनिक, पुलिस व विकास विभाग के अधिकारी तथा विभिन्न योजनाओं के लाभार्थीगण मौजूद रहे। गोष्ठी के समापन अवसर के पूर्व मुख्य अतिथि श्री सिंह ने मौजूद लोगों को लिंग आधारित भेद-भाव और हिंसा तथा मौलिक अधिकारों का उलंघन न करने की शपथ भी दिलायी। 

                :ःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःः

No comments: