Breaking

Jan 18, 2023

सांसद कैसरगंज ने पत्रकारों के सवालों का दिया ज़बाब, आरोपों को सिरे से नकारा, तीन बार कहा कि नहीं हुआ किसी भी प्रकार का शोषण।

भारतीय खेल जगत में उस समय भूचाल आ गया जब भारतीय कुश्ती संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद कैसरगंज बृजभूषण शरण सिंह पर भारतीय महिला पहलवानों ने शारीरिक एवं मानसिक शोषण का सनसनीखेज आरोप लगा कर दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। पत्रकारों से बातचीत में खिलाड़ियों ने संघ के अध्यक्ष और पदाधिकारियों तथा कोच पर आरोप लगाया कि महिला पहलवानों तथा महिला कोच को कारवाई का भय दिखा कर उनका शोषण किया जाता है नेशनल कैंप का आयोजन लखनऊ में सिर्फ इसलिए किया जाता है कि वहां उनका निवास स्थान है और किसी का शोषण करना आसान होता है इन सभी आरोप के जवाब में कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने पत्रकार वार्ता करते हुए कहा कि उन्होंने कहा कि उन्होंने किसी के साथ किसी भी प्रकार का कोई अनैतिक कार्य नहीं किया है यदि कोई उपरोक्त आरोप साबित करने में सफल हो जाता है तो वह फांसी पर चढ़ने के लिए तैयार हैं उन्होंने पत्रकारों को जबाब देते समय जोर देकर तीन बार कहा कि कोई शोषण नहीं हुआ है यह किसी बड़े उद्योगपति की साज़िश है पत्रकारों से बातचीत करते समय उन्होंने ने तीर्थ राणा का भी जिक्र किया है उन्होंने यह भी कहा कि धरने में शामिल खिलाड़ी अपनी मनमानी ना चलने की वजह से रूष्ट है बातचीत करते समय बृजभूषण शरण सिंह ने बताया कि उनको जब खिलाड़ियों के धरना प्रदर्शन की बात पता चली तो वह बाराबंकी में एक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे वह सूचना मिलते ही कार्यक्रम छोड़ कर दिल्ली सिर्फ इसलिए आये है वह खिलाड़ियों की शिकायतों को दूर कर सकें। उन्होंने यह भी कहा कि यदि पहलवानों को मुझसे कोई दिक्कत थी तो खेलमंत्री, गृहमंत्री और प्रधानमंत्री से कहीं जा सकती थी परन्तु यह किसी बड़े आदमी के इशारे पर सुनियोजित तरीके उन्हें बदनाम करने की बहुत गहरी साज़िश है।

No comments: