Breaking

Sep 15, 2022

मेडिकल कॉलेज में नहीं मिलेगी मुफ्त इलाज की सुविधा

बस्ती। मेडिकल कॉलेज में मुफ्त इलाज की सुविधा नहीं मिलेगी। जल्द ही ओपीडी से लेकर भर्ती मरीजों को उपलब्ध कराई जा रही सेवाओं पर शुल्क लागू कर दिया जाएगा। शासन की ओर से मेडिकल कॉलेज प्रशासन को इसके लिए तैयारी करने के लिए निर्देशित किया है। कॉलेज प्रशासन का कहना है कि शासन से हरी झंडी मिलते ही शुल्क लागू कर दिया जाएगा, फिर कोई सेवा नि:शुल्क नहीं रह जाएगी।     

          शासन की ओर से सभी स्वायत्तशासी मेडिकल कॉलेजों के जिम्मेदारों से स्पष्ट रूप से कह दिया गया है कि मेडिकल कॉलेज पर होने वाले सालाना खर्च के बजट का 10 प्रतिशत अपने संसाधनों से आय अर्जित करनी होगी। इसके लिए उन्हें खुद रास्ता तलाशना होगा। कॉलेज प्रशासन का कहना है कि प्रदेश के कुछ मेडिकल कॉलेज में पहले से ही पर्चे से लेकर जांच पर फीस ठीक-ठाक ली जा रही है। वहीं का रेट यहां पर लागू किया जा सकता है। इसके अलावा स्थानीय स्तर की जरूरत व मरीजों का ख्याल रखते हुए जांच आदि पर फीस का निर्धारण किया जा सकता है। हर हाल में खर्च का 10 प्रतिशत इसी से निकालना होगा।    

मेडिकल कॉलेज का सलाना बजट लगभग 18 करोड़ का है। शासन की गाइड लाइन के अनुसार इसका 10 प्रतिशत कमाई मेडिकल कॉलेज प्रशासन को करनी होगी। कुछ चिकित्सकों के अनुसार मेडिकल कॉलेज में आने वाले मरीजों में बड़ी संख्या गरीब मरीजों की है। उनके लिए जांच आदि की फीस भरना आसान नहीं होगा। मरीज की आर्थिक स्थिति ठीक न होने पर इलाज करना मुश्किल होगा। वर्तमान में बिना कुछ खर्च किए, इलाज व ऑपरेशन की सुविधा मिल रही है।

शासन की ओर से कॉलेज की आय बढ़ाने के लिए कहा गया है, लेकिन इसके लिए अभी कोई तिथि निर्धारित नहीं की गई है। अगले आदेश का इंतजार है। आदेश मिलते ही सभी जांच आदि पर न्यूनतम शुल्क लगा दिया जाएगा।     

              रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट

No comments: