Breaking

Jan 4, 2023

1.25 लाख वर्ग फिट में बन रही है यज्ञशाला, सैकड़ों टन लकड़ी से होगा महायज्ञ, बागेश्वर धाम महंत समेत हजारों विदेशी भी बनेंगे साक्षी।

राजस्थान में स्थित श्री सिद्धपीठ सालासर बालाजी धाम में सर्वधर्म के लिए आठ दिवसीय महायज्ञ आयोजित किया गया है आने वाली 12 से 20 जनवरी तक 1008 कुंडीय हनुमन महायज्ञ होगा। इसमें भारत के अलावा विदेशों तक के 1008 भक्त दंपति आहुति देकर महायज्ञ के साक्षी बनेंगे। आयोजन समिति से जुड़े रविशंकर पुजारी का कहना है कि ऐसा आयोजन दुनिया में पहली बार हो रहा है। हनुमानजी के लिए सवा करोड़ आहुति एक यज्ञ में दी जाएगी। पाक अधिकृत कश्मीर को वापस भारत में शामिल करवाने की प्रार्थना भी इस आयोजन का उद्देश्य है।
पद्म विभूषण श्रीचित्रकूट तुलसी पीठाधीश्वर जगदगुरु रामानंदाचार्य स्वामी रामभद्राचार्य महाराज के सानिध्य में कार्यक्रम होगा। अष्टोत्तर सहस्त्र 1008 कुंडीय हनुमन महायज्ञ व श्रीराम कथा में देशभर के नामी संत व राजनेता आएंगे। प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को भी निमंत्रण दिया गया है। स्वामी रामभद्राचार्य महाराज का 14 जनवरी को 74वां जन्मदिन भी है। यज्ञ के लिए सवा लाख स्क्वायर फीट में ही यज्ञशाला व इतनी ही जगह में श्रीराम कथा का पांडाल बनाया जा रहा है। संतों के रहने व पंडितों सहित यजमानों के लिए धर्मशालाएं बुक करवाई हैं।
 रविशंकर पुजारी ने बताया कि हनुमान वाटिका बालाजी गोशाला संस्थान सुजानगढ़ रोड पर होने वाले महायज्ञ के लिए लगभग दो महीने से यज्ञशाला बनाई जा रही है। 100 कारीगर इसे बनाने में जुटे हैं। सवा सौ टन बल्ली, बांस व सिरकी की लकड़ी से यज्ञशाला बन रही है। पुष्कर और जयपुर से फूल मंगवाए जाएंगे। सुगंधित हवन सामग्री कानपुर व इंदौर से आयातित की गई है। 31 टन घी लगेगा। 250 टन खेजड़ी की लकड़ी हवन के लिए मंगवाई है सत्यप्रकाश पुजारी ने बताया कि वृंदावन, अयोध्या, बनारस, मथुरा व राजस्थान के दो हजार से अधिक पंडित यज्ञ करवाएंगे। यज्ञाचार्य डॉ. बालकृष्ठ कौशिक धर्माचार्य होंगे। यज्ञसम्राट बालिक योगेश्वरदास बद्रीनाथ धाम, आचार्य श्री रामचंद्र दास, बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री, रामदेव बाबा सहित कई बड़े संतों के सम्मिलित होने की संभावना है ।

No comments: