Breaking

Nov 5, 2022

करनैलगंज : सत्ता के दबाव में हो रही छापेमारी - शमीम अच्छन


करनैलगंज/ गोण्डा - शुक्रवार को प्रशासन द्वारा नगर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि के निजी प्रतिष्ठान तथा नगर पालिका में की गई छापेमारी पर आपत्ति जाहिर करते हुए इसे राजनीति से प्रेरित बताया। बगैर किसी का नाम लिए प्रेसवार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि आमजन मानस के बीच मेरी छबि धूमिल करने के लिए ये छापेमारी केवल सत्ता के इशारे पर हो रही है। उन्होंने कहा कि नगर पालिका परिषद का चुनाव होने वाला है चुनाव में मैं भी अध्यक्ष पद का प्रत्याशी हूँ। आयोग द्वारा 01.11.2022 से 04.11.2022 तक मतदाता सूची में परिवर्धन अपमार्जन और संशोधन का कार्य आनलाइन किये जाने का समय तय किया गया था उसी क्रम में जनता के सहयोग और शासन की मंशा के अनुरूप मेरे द्वारा अपने चुनाव कार्यालय पर उक्त कार्य किया जा रहा था,लेकिन मेरा मनोबल गिराने और जनता को भयभीत करने के लिए सत्तापक्ष की फर्जी शिकायत पर मेरे कार्यालय पर भारी पुलिस बल के साथ प्रभारी निरीक्षक व तहसीलदार ने छापेमारी की। लेकिन कोई अवैध कार्य न पाकर वह वापस लौट गये। नगर पालिका परिषद में देर रात्रि में की जा रही फीडिंग के ज़बाब में उन्होंने अपर जिलाधिकारी द्वारा  31:10:2022 को जारी आदेश  का हवाला देते हुए उन्होंने बताया कि पालिका में भी कोई व्यक्ति आवेदन कर सकता है जो आवेदन आये थे उनकी फीडिंग की जा रही थी। चूंकि निर्वाचन वेवसाइट कल 4 नवम्बर को 12 बजे रात्रि में बन्द हो जानी थी ऐसी स्थिति में देर तक कर्मचारी कार्य कर रहे थे तो पुनः सत्ता पक्ष की शिकायत और दबाव में आकर भारी पुलिस बल के साथ एसडीएम ने भारी फोर्स के साथ पहुंचकर नगर पालिका में छापेमारी की और घर जा चुके कर्मचारियों को बुलाकर सारे सिस्टम को चेक किया। उन्होंने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि मुझको बगैर कोई सूचना दिये और मेरा बयान लिए ही मेरे कक्ष को सीज कर दिया गया, जो किसी भी दशा में न्यायोचित और वैधानिक नहीं प्रतीत होता। भारत टावर पर आयोजित प्रेस वार्ता में शमीम अच्छन ने कहा कि वह पालिका परिषद के अध्यक्ष के प्रत्याशी व समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी हैं इसलिए ठीक चुनाव के समय मेरे विरूद्ध अनावश्यक रूप से उत्पीडानात्मक कार्यवाही की जा रही है। साथ ही मेरी राजनितिक छवि को आम जन मानस के बीच धूमिल करने की कोशिश की जा रही है।

No comments: