Breaking

Dec 25, 2022

श्री राम अवतरण कारीडोर के रुप में विकसित होंगे धाम

बस्ती। श्री राम जन्मभूमि अयोध्या से जोड़ते हुए मखौड़ा धाम एवं श्रृंगीनारी आने वाले मार्ग के स्थलों को श्री राम अवतरण कारीडोर के रूप में विकसित किए जाएगा। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित पर्यटन की तैयारी बैठक में डीएम प्रियंका निरंजन ने पर्यटन विभाग को काशी विश्वनाथ धाम की तर्ज पर इस स्थल का विकास प्रोजेक्ट तैयार करने के लिए निर्देशित किया। कहा कि इस कार्य में कंसल्टेंट एवं आर्किटेक्ट की सहायता ली जाय।    

           विधायक अजय सिंह ने कहा कि रामरेखा मंदिर परिसर में धर्मशाला, गेट, पार्क, सत्‍संग भवन बनाए जाने के लिए प्रोजेक्‍ट तैयार करें। विभिन्न स्थानों पर गेट निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण की आवश्यकता होगी।  

सत्यापन के लिए समिति करने के दिए निर्देश

निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए डीएम ने निर्देश दिया कि समय से कार्यों का सत्यापन कराना सुनिश्चित करें। जिन कार्यों के सत्यापन के लिए समिति गठित नही है, वहां समिति गठित कराएं। प्रोजेक्टवार समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि जिन सड़कों का कार्य पूरा हो गया है, उसमें साइनेज, सूचनात्मक बोर्ड, माकिंग, रोडपटरी बनाने का भी कार्य समय से पूरा करें। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, आवास विकास परिषद, पीडब्ल्यूडी निर्माण एवं प्रान्तीय खण्ड, नाबार्ड, राज्यनिधि, पूर्वान्चल विकास निधि, आरआईडीएफ, यूपीसिडको, यूपीपीसीएल, सीएण्डडीएस विभागों की निर्माण कार्यो की समीक्षा किया।   

कार्यदायी संस्था ने बताया कि 100 बेड का हर्रैया महिला चिकित्सालय स्वास्थ्य विभाग को 16 दिसम्बर को हैण्डओवर कर दिया गया है। चंगेरवा लघु सिंचाई ट्रेनिंग सेण्टर के बारे में यूपीसिडको के प्रोजेक्‍ट मैनेजर ने बताया कि 1 करोड़ रूपया प्राप्त हुआ है, जिससे आवास बनवाया जा रहा है। यहॉ पर निर्मित पशुपालन विभाग का भवन पूर्व में ही विभाग को हैण्डओवर कर दिया गया है। संयुक्त निदेशक शिक्षा कार्यालय का अवशेष धनराशि भी प्राप्त हो गया है। कलेक्ट्रेट का स्थल विकास शेष है। धनराशि राजस्व बोर्ड से प्राप्त होने पर पूर्ण करा दिया जाएगा।

बैठक में सीडीओ डा. राजेश कुमार प्रजापति, अर्थ एवं संख्याधिकारी मो. सादुल्लाह, पर्यटन अधिकारी विकास नारायण, अधिशासी अभियन्ता पीडब्ल्यूडी एके सिंह, केशवलाल, आरईडी के अरविन्द कुमार, कार्यदायी संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।    

          रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट 

No comments: