Breaking

Nov 1, 2022

निष्क्रिय आशाओं की जगह होगी नई भर्ती।

बस्ती । में पिछले 6 माह में एक हजार रुपए से भी कम मानदेय पाने वाली निष्क्रिय आशाओं को चिन्हित कर उनके स्‍थान पर नई आशा की भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी। डीएम प्रियंका निरंजन ने इसके लिए निर्देश दिया है।   

           अक्‍टूबर माह तक मात्र 9 निष्क्रिय आशाओं को चिन्हित करने और उन्‍हें हटाने की कार्रवाई की जगह मात्र ग्राम प्रधान को नोटिस जारी कर कोरम पूरा करने पर नाराजगी व्‍यक्‍त की। एमओआईसी को इन आशाओं के विरूद्ध एक सप्‍ताह भीतर कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया है।  

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में कहा कि प्रत्येक रविवार को पीएचसी, सीएचसी पर आयोजित होने वाले आरोग्य मेला को गति प्रदान करने के लिए सभी एसीएमओ निरीक्षण करें। आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डन कार्ड बनाने के लिए नियमित शिविर लगाए। डेंगू के इलाज के लिए सभी सीएचसी में अलग वार्ड तैयार करे, बाढ़ क्षेत्र में नियमित रूप से मेडिकल टीम भेजे।

49 केंद्रों पर एएनएम की तैनाती नहीं
समीक्षा में जनपद में 374 उपकेंद्र में से 49 उपकेन्‍द्र पर एएनएम की तैनाती नहीं मिली, जबकि उपकेन्‍द्रो पर 477 एएनएम तैनात हैं। सीएमओ को निर्देशित किया कि 59 डिलीवरी प्‍वाइंट पर ही एक अतिरिक्‍त एएनएम की तैनाती की जाए, इसके अलावा सभी सम्‍बद्ध एएनएम को रिक्‍त उप केन्‍द्रों पर तैनात किया जाए।  

सीएचसी, पीएचसी में कोल्डचेन मेंटेन करने के लिए निर्धारित कक्ष की आवश्यक मरम्मत संबंधित बीडीओ द्वारा नहीं कराने, भर्ती मरीजों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए टेंडर नहीं कराने, महिला स्वयं सहायता समूह को कार्य आवंटित न किए जाने, नए शौचालय बनाने का कोई कार्य नहीं किए जाने पर नाराजगी जताया। एमओआईसी, बीईओ को निर्देश दिया कि समन्वय बनाकर छात्र, छात्राओं की हेल्थ चेकअप कराएं। परिवार नियोजन में तेजी लाने के लिए अगले 3 माह की कार्ययोजना प्रस्तुत करें।  

बैठक में यह लोग रहे मौजूद
बैठक में सीएमओ डा. आरपी मिश्रा, डीडीओ अजीत श्रीवास्तव, एसीएमओ डा. जय सिंह, डा. सीएल कन्नौजिया, सीएमएस डा. आलोक वर्मा, डीआईओएस डीएस यादव, बीएसए इन्द्रजीत प्रजापति, डीपीआरओ नमिता शरण, डीपीएम राकेश पाण्डेय, यूनिसेफ की अनीता सिंह, डा. अजय, सुरेन्द्र शुक्ला, सुधीर यादव, अजय मिश्रा, एमओआईसी उपस्थित रहे।    


         रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट

No comments: