Breaking

Sep 14, 2022

एलबीएस डिग्री कॉलेज के ललिता सभागार में हुआ हिंदी दिवस का भव्य आयोजन



गोण्डा - बुधवार को हिंदी दिवस के मौके पर श्री लाल बहादुर शास्त्री डिग्री कॉलेज के ललिता सभागार में हिंदी दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्य प्रो. रविंद्र कुमार पाण्डेय,समारोह अधिकारी प्रो अतुल कुमार सिंह ,मुख्य नियंता प्रो श्याम बहादुर सिंह ,प्रो दीनानाथ तिवारी ,प्रो शिवचरण शुक्ला, प्रो बघेल ,डॉ पवन कुमार डॉ अच्युत शुक्ला असिस्टेंट प्रोफेसर हिंदी विभाग डॉ चमन कौर मंत्री शिक्षक संघ आदि ने सामूहिक रूप से मां सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्ज्वलन एवं माल्यार्पण करके किया । इसके पश्चात महाविद्यालय की छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत कर कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत की गई। हिंदी विभाग के असि. प्रो. अच्युत शुक्ला ने अपने उद्बोधन में कहा 14 सितंबर 1953 राष्ट्रभाषा प्रचार समिति के सिफारिश के बाद से प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। प्रोफेसर शिवशरण शुक्ला ने अपने उद्बोधन में कहा क्योंकि भारत में सैकड़ों भाषाएं एवं बोलियां बोली जाती हैं इसे ध्यान में रखते हुए संविधान सभा में एकमत के साथ 14 सितंबर 1949 को हिंदी  को राजभाषा का दर्जा दिया गया। संचालन कर रही डॉक्टर चमन कौर ने अपने उद्बोधन में कहा भाषा एक ऐसा वस्त्र है जिसको यदि शालीनता से नहीं पहना तो संपूर्ण व्यक्तित्व ही निर्वस्त्र हो जाता है ।महाविद्यालय के प्राचार्य ने अपने उद्बोधन में कहा हिंदी महज एक भाषा ही नहीं है, बल्कि हमको रचती है ।हिंदी को मन की भाषा कहा जाता है । यह मन के बंद ताले को खोल सकती है ।दुनिया भर के भारतीयों को भावात्मक रूप से जोड़ने का कार्य करती है ।कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं ने भी हिंदी दिवस पर अपने विचार  व्यक्त किए। कार्यक्रम में डॉ अभिक सिंह , डॉ बीएन पाल, डॉक्टर मोदनवाल, डॉक्टर दीप्ति, डॉक्टर ममता शुक्ला ,डॉ मनोज मिश्रा, डॉ दिलीप शुक्ला आदि प्राध्यापक गण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन  डॉ चमन कौर असिस्टेंट प्रोफेसर B.Ed विभाग द्वारा किया गया।

No comments: