Breaking

Jan 24, 2023

जननायक कर्पूरी ठाकुर को जयंती पर किया नमन

बस्ती। में जननायक कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर जिले में विभिन्‍न स्‍थानों पर कार्यक्रम आयोजित कर उन्‍हें नमन किया। उनके सादगी और योगदान की चर्चा की गई। समाजवादी पार्टी कार्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में सदर विधायक महेन्द्रनाथ यादव ने कहा कि गरीबी की कोख से निकले कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न की उपाधि दिया जाना चाहिए।   

         वे राजनीति में हमेशा अजेय ही रहे, वे कभी चुनाव नहीं हारे, एक बार उपमुख्यमंत्री और दो बार मुख्यमंत्री पद को शोभित हुए। उसके बाद अधिकतर समय उन्होंने विरोधी दल के नेता की ही भूमिका निभाई। कर्पूरी ठाकुर की ईमानदारी को इस बात से समझा जा सकता है कि जब उनका निधन हुआ तो उनके बैंक खाते में पांच सौ रुपए भी नहीं बचे थे। वहीं जायदाद के नाम पर केवल एक खपरैल का पुराना मकान था। युवा पीढी को देश के ऐसे समर्पित नेताओं से प्रेरणा लेनी चाहिए। उनका योगदान सदैव याद किया जाएगा।  

सपा नेता समीर चौधरी, जावेद पिण्डारी, अरविन्द सोनकर, राजेन्द्र चौधरी, राघवेन्द्र सिंह, राजेन्द्र यादव, राजेन्द्र चौरसिया, मो. सलीम, श्याम सुन्दर यादव, राम सिंह यादव, गौरीशंकर यादव, भोला पाण्डेय, प्रशान्त यादव, राहुल सिंह, गीता भारती, इन्द्रावती शुक्ल, महेश तिवारी और रजवन्त यादव शामिल रहे।

वहीं रंजीत कालोनी में आयोजित कार्यक्रम में सामाजिक कार्यकर्ता पवन वर्मा ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर देशी माटी में जन्मे देशी मिजाज के राजनेता थे, जिन्हें न पद का लोभ था, न उसकी लालसा। जब कुर्सी मिली भी तो उन्होंने कभी उसका न तो धौंस दिखाया और न ही तामझाम का सहारा लिया। मुख्यमंत्री रहते हुए सार्वजनिक जीवन में ऐसे कई उदाहरण हैं, जब उन्होंने कई मौकों पर सादगी की अनूठी मिसाल पेश की। भारतीय राजनीति में ऐसे विलक्षण राजनेता कम ही मिलते हैं।  

इस दौरान कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष अंकुर वर्मा, सचिन शुक्ल, संदीप श्रीवास्तव, महेन्द्र शंकर, शादाब अफसर, आदित्य त्रिपाठी, मुकेश विश्वकर्मा, दुर्गेश त्रिपाठी, रोहन श्रीवास्तव, अमन श्रीवास्तव, आदर्श पाठक, देवानन्द सिंह, हर्षित वर्मा, अनुज सिंह, सावन कुमार, प्रमोद कुमार, राघव त्रिपाठी, वृजमोहन वर्मा, इजहार अहमद, सलमान खान और पिन्टू यादव आदि शामिल रहे।  


          रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट

No comments: