Breaking

Jan 24, 2023

राम की शरण में जाकर बेटी को बनाया सांसद

बस्ती। में सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने स्‍वामी प्रसाद मार्या के बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि 4 बार की बसपा सरकार में रहते उन्‍हें याद नहीं आया कि रामचरित मानस में दोहा और चौपाई गलत है, उसे हटाया जाए। बसपा के बाद वे राम की शरण में आए और बेटी को सांसद बना लिया। खुद बीजेपी सरकार में मंत्री बन गए। अब सपा में जाने के बाद चर्चा में रहने के लिए ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं।  
         सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सर्किट हाउस में मीडिया से बात की। आपी राजभर ने बागेश्‍वरधाम के धीरेन्‍द्र शास्‍त्री के बयान पर कहा कि देश संविधान से चलता है। संविधान में कहीं यह व्‍यवस्‍था नहीं है कि देश में दूसरी एक नई व्‍यवस्‍था और परम्‍परा लागू की जाय। यहां तमाम धर्म और मजहब के लोग रहते हैं। सवालिया लहजे में कहा कि क्‍या हिन्‍दू राष्‍ट्र बनाकर देश से सबको निकाल देंगे।

उन्हाेंने आगे कहा कि जगह का नाम रख देने से सिस्‍टम नहीं बदलता। पहले विचार बदले। हमें देश की मूलभूत समस्‍याओं पर ध्‍यान देना चाहिए। कोई भी धर्म और मजहब आपस में लड़ने की इजाजत नहीं देता। धर्मांतरण के सवाल पर ओपी राजभर ने कहा कि बाबा साहब ने जिस समय धर्मांतरण किया, उस समय छुआछूत, भेदभाव, जातिवाद, नफरत चरम पर थी। बाबा साहब ने कहा था कि हम समता और स्‍वतंत्रता में रहना चाहते हैं, जहां न्‍याय है, वहां रहना चाहते हैं।

सुभासपा अध्यक्ष ने कहा कि आजादी के 75 साल बाद भी वंचित समाज को उसका हिस्‍सा नहीं मिला। उसके विषय पर कोई चर्चा नहीं करता। जिस तरह के चमत्‍कारी बाबा आ रहे हैं, वे सब राम रहीम के चेले हैं। उन्हाेंने कहा कि यदि ऐसा ही रहा तो आने वाले दिनों में राम रहीम की तरह यह सब बाबा जेल में रहेंगे। इस समय बनारस जेल में 25 बाबा बन्‍द हैं। सपा, बसपा, कांग्रेस बीजेपी का भय दिखाकर मुसलमानों से वोट लेने का काम करती है।


          रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट 


No comments: