Breaking

Nov 2, 2022

15 नवम्बर तक सड़कों को किया जाय गडढ़ामुक्त: जितिन प्रसाद कार्य की गुणवत्ता व समयबद्धत्ता पर दिया जाय विशेष बल

 


बहराइच । मा. मंत्री लोक निर्माण विभाग, उ.प्र. श्री जितिन प्रसाद ने जनपद भ्रमण के दौरान कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि सम्पर्क मार्गों के नवीनीकरण, मरम्मत व गडढ़ामुक्त कार्य को अनिवार्य रूप से 15 नवम्बर 2022 तक पूर्ण कर लिया जाय। श्री प्रसाद ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि सम्पर्क मार्गों का नवीनीकरण, मरम्मत व गडढ़ामुक्त कार्य मा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। इस लिए सभी सम्बन्धित अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि निर्धारित कार्यों को निर्धारित मानक, गुणवत्ता व समयसीमा में पूर्ण कराया जाय। अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित को दण्डित किया जायेगा। श्री प्रसाद ने कहा कि कार्यों की महत्तता को दृष्टिगत रखते हुए गडढ़ामुक्त कार्य को युद्ध स्तर पर कराया जाय तथा आवश्यकता के अनुसार संसाधनों को भी बढ़ाया जाय।

बैठक के दौरान लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत मार्गों पर पैच मरम्मत, नवीनीकरण व विशेष मरम्मत कार्यों की विधानसभावार व सहायक अभियन्ता वार एक-एक सड़क के कार्याे के प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि कार्यों की गुणवत्ता व समयबद्धता पर विशेष ध्यान दिया जाय तथा यह भी सुनिश्चित किया जाय कि क्षतिग्रस्त मार्गों का विभागीय नार्मस के अनुसार मरम्मत कार्य भी कराया जाय। श्री प्रसाद ने कहा कि सम्पर्क मार्ग ही विकास के रास्तों को प्रशस्त करते हैं। इसलिए ज़रूरी है कि ग्राम को कस्बों से तथा कस्बों को शहर से जोड़ने वाले मार्ग दुरूस्त हों जिससे समाज के सभी वर्गों विशेषकर किसानों एवं व्यापारियों को अपने उत्पादों के ट्रांसपोटेशन में किसी प्रकार की असुविधा न हो। मा. मंत्री ने कहा कि अच्छे मार्गों से सड़क दुर्घटनाओं में भी कमी लाई जा सकती है।

बैठक के दौरान सांसद बहराइच ने जनपद के दूरस्थ क्षेत्रों विशेषकर मिहींपुरवा क्षेत्र की सड़कों, विधायक महसी ने बेलहा-बेहरौली तटबन्ध के सर्विस रोड के गैप को पूरा करने के साथ मार्ग का चौड़ीकरण, विधायक पयागपुर ने सिलौटाघाट व चंदईपुर सेतु निर्माण को पूर्ण कराने, विधायक नानपारा ने तकियाघाट व गढ़ीघाट के सड़क व अप्रोच मार्ग के कार्य को पूर्ण कराये जाने के साथ-साथ सभी जनप्रतिनिधियों ने अपने-अपने क्षेत्र के क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत कराये जाने का सुझाव दिया गया। मा. मंत्री श्री प्रसाद ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि गडढ़ामुक्त कार्य हेतु चिन्हित सड़कों की मरम्मत हेतु प्राप्त बजट, कार्य की प्रगति विधानसभावार व सड़कवार विवरण सम्बन्धित जनप्रतिनिधियों को भी अवश्य उपलब्ध कराएं। श्री प्रसाद ने जिलाधिकारी से अपेक्षा की वे भी अपने स्तर पर विभागीय कार्यों की नियमित रूप से समीक्षा करते रहें। 

बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि लखीमपुर-बहराइच राष्ट्रीय राज्यमार्ग पर स्थित रायबोझा के निकट पुल बाढ़ के दौरान क्षतिग्रस्त हो गया है। जिसके कारण वाहनों का आवागमन बाधित हो रहा है। डीएम ने कहा कि तराई के 02 महत्वपूर्ण जनपदों को जोड़ने वाली सड़क के बीच क्षतिग्रस्त पुल का निर्माण शीघ्र ही कराया जाना आवश्यक है। जिस पर श्री प्रसाद ने आश्वस्त किया कि पुल का निर्माण शीघ्र ही कराया जायेगा। 

डीएम ने मा. मंत्री को यह भी बताया कि जनपद में आयी बाढ़ के दौरान लगभग 208 गांव प्रभावित हुए थे। तथा बाढ़ के कारण जिले की 570 कि.मी. लम्बाई में 300 से अधिक सड़के क्षतिग्रस्त हुई हैं। डीएम ने बताया कि बाढ़ के दौरान क्षतिग्रस्त हुई सरकारी परिसम्पत्तियों का आंकलन कराया जा रहा है। डीएम ने कहा कि बाढ़ के दौरान बचाव व राहत कार्य अन्तर्गत 33 सामुदायिक रसोई संचालित कर लगभग 04 लाख लंच पैकेट का वितरण कराया गया है। जिले में फसल क्षति मुआवज़ा देने की कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गई है। डीएम ने आश्वस्त किया कि बैठक के दौरान प्राप्त सुझावों व निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जायेगा। मा. मंत्री जी को जनपद गेंहू के डंढल से निर्मित कलाकृति व शाल भेंट किया गया। बैठक के उपरान्त मा. मंत्री श्री प्रसाद ने डीएम आवास से भाजपा कार्यालय के बीच हुए सड़क की पैचिंग कार्य का भी जायज़ा लिया।         बैठक के दौरान सांसद बहराइच अक्षयवर लाल गोंड, विधायक महसी सुरेश्वर सिंह, पयागपुर के सुभाष त्रिपाठी, नानपारा के राम निवास वर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष श्यामकरन टेकड़ीवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मंजू सिंह के प्रतिनिधि कर्णवीर सिंह, जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र, पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी, मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, मुख्य राजस्व अधिकारी अवधेश कुमार मिश्र, मुख्य अभि. लो.नि.वि. देवीपाटन मण्डल वीरेन्द्र चौधरी, अधी.अभि. ए.एस. चौरसिया, अधि.अभि. अमर सिंह सहित विभाग के सहायक व अवर अभियन्तागण मौजूद रहे। 

No comments: