Breaking

Oct 13, 2022

डीएम की सख्ती के बाद हुई आईजीआरएस रैंकिंग में सुधार

बस्ती । जनपद को आईजीआरएस का निस्तारण में प्रदेश में 43 वीं रैंक प्राप्त हुई है। माह अगस्त 2022 में जनपद शिकायतों के निस्तारण में 54 वें स्थान पर था, जबकि जून में 74 वीं रैंकिंग थी। डीएम प्रियंका निरंजन ने सख्ती की तो निस्तारण में तेजी आई और इसका नतीजा यह रहा कि लगातार हर महीने रैंकिंग में सुधार आने लगी है।   

          जिले की रैंकिंग में सुधार से जिलाधिकारी खुश दिख रही हैं। तीन माह पहले चार्ज लेते ही उनकी सक्रियता का असर जिले में धीरे-धीरे दिखने लगा है। शासन स्तर से शिकायतों के त्वरित एवं गुणवत्तापरक, समयबद्ध व समुचित समाधान के लिए लगातार शिकंजा कसा जा रहा है। आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों के निस्तारण में अच्छी प्रगति लाते हुए जनपद को माह सितंबर-2022 की रैंकिंग में जनपद को पूरे प्रदेश में 43 वीं रैंक प्राप्त हुई है।

जनपद में आने के पश्चात जन समस्याओं के निस्तारण में डीएम की विशेष रूचि रही। आईजीआरएस पर प्राप्त शिकायतों की प्राथमिकता के आधार पर समयसीमा अंतर्गत गुणवत्तापूर्ण निस्तारण हेतु गहन समीक्षा एवं लगातार मानिटरिंग का परिणाम रहा कि जनपद को आईजीआरएस का निस्तारण में प्रदेश में 43 वीं रैंक प्राप्त हुई। माह अगस्त- 2022 में शिकायतों के निस्तारण में 54 वें स्थान पर था, जिलाधिकारी ने सख्ती की तो निस्तारण में तेजी आई। सितंबर माह की रैंकिग में को प्रदेश में 43 वां स्थान मिला है। शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण होने पर रैंक में सुधार आया है।  

सितंबर माह में कुल 4104 शिकायतें पोर्टल पर प्राप्त हुई, इसमें से 88.81 फीसदी संदर्भों के निस्तारण का औसत रहा। जन शिकायतों का निस्तारण डीएम की शीर्ष प्राथमिकता में है। उन्होंने अधिकारियों से इस पर विशेष ध्यान देते हुए शत प्रतिशत शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण व समयबद्ध निस्तारण सुनिश्चित करने की हिदायत दे रखी है। उनका कहना है बेहतर रैंकिंग के लिए प्रभावी रूप से प्रयास जारी रहेगा।  
प्रदेश में आइजीआरएस रैंकिंग में लगातार सुधार हो रहा है। जनपद स्तर से फोन कर भी मामले की क्रास चेकिंग कराई जा रही है। अधीनस्थ अधिकारियों के स्तर से निस्तारित प्रत्येक शिकायत की निस्तारण आख्या का परीक्षण किया जा रहा है ताकि जनपद सीएम काल सेंटर से आए फोन पर भी खरा उतरे और जनपद को और बेहतर रैंकिंग मिल सके।    

          रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट

No comments: