Breaking

Oct 8, 2022

प्राथमिक विद्यालयों में भर गया, पानी कैसे हो पढ़ाई, नौनिहाल हलकान

बस्ती । दो दिनों से हुई तेज बरसात ने नौनिहालों को हलकान कर दिया है। कहीं परिषदीय स्कूलों में पानी भर गया है तो कहीं पर स्कूल जाने के रास्ते पानी में डूब गए हैं। जिस पर चलकर स्कूल पहुंचना काफी मुश्किल हो रहा है। बच्चों को कौन कहे शिक्षकों को भी काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है।    

         सांऊघाट ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय हड़िया व पैंड़ा खरहरा में बरसाती पानी भर जाने से पठन-पाठन प्रभावित हो गया है। प्राथमिक विद्यालय हड़िया के चारो कमरों व पुरे परिसर में काफी पानी है। स्कूल के कमरे में रखा बेंच, मेज, टाट, आलमारी, दरवाजा आदि सब पानी में आधा डूब गया है।

स्कूल के सटे आंगनबाड़ी भवन भी पूरी तरह से जर्जर व जलमग्न हो गया है। प्राथमिक विद्यालय हड़िया में कुल नामांकित बच्चों की संख्या 72 है। प्रधानाध्यापिका अख्तरी खातून, सहायक अध्यापिका प्रियदर्शिनी विनीता एवं पूनम चौधरी ने बताया कि 72 बच्चों में से प्रतिदिन 62-65 बच्चे स्कूल आते थे। पानी भर जाने से गांव के इन्द्रजीत चौहान के घर के टिनशेड में बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। बच्चों की पढ़ाई के साथ ही एमडीएम का बनना भी प्रभावित हो रहा है।

ग्राम प्रधान इन्द्रजीत चौहान ने कहा कि इस समस्या के निजात के लिए बीएसए को पत्र देकर अवगत कराया गया है। पूरे गांव का पानी यहीं पर आकर एकत्र होता है। जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं हैं, जिससे स्कूल परिसर में जलजमाव की समस्या बरकरार है।

सांऊघाट क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय पड़िया खास, सरैया, खुटहना, पूर्व मावि मझौआमीर सहित दर्जनों परिषदीय विद्यालयों में पानी भरा हुआ है। खंड शिक्षाधिकारी सीपी गौड़ ने कहा कि बरसात के बाद कुछ वैकल्पिक व्यवस्था बनाई जायेगी। विकास खंड विक्रमजोत के भगवानपुर परिसर पानी में भरा है तो विकास खंड रुधौली के जूनियर हाईस्कूल के मैदान पर पानी भरा हुआ है।   

          रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट
       

No comments: