Breaking

Sep 26, 2022

जयकारों के बीच आज पंडाल व घरों में विराजेंगी देवी दुर्गा

बस्ती । शारदीय नवरात्रि आज से शुरू हो रहा है। शहर से लेकर गांव तक भक्तिमय माहौल है। रविवार से ही देवी दुर्गा की प्रतिमा को स्थापित करने का सिलसिला शुरू हो गया। ट्रैक्टर-ट्राली, ट्रक, ठेला आदि पर मूर्ति रखकर ले जाने क्रम देर शाम तक चलता रहा। तो वहीं उल्लास व उमंग के बीच श्रद्धालु नवरात्रि का व्रत शुरू करेंगे। नवरात्रि के पहले दिन शुक्ल व ब्रह्म योग का अद्भभुत संयोग बनने के कारण इसे बेहद खास माना जा रहा है। इस साल नवरात्रि पर माता रानी हाथी की सवारी से पृथ्वी पर आगमन कर रही हैं। मां की सवारी को बेहद शुभ माना जा रहा है।

नवरात्रि को लेकर उत्सव जैसा माहौल है। घरों से लेकर पूजा पंडालों में तैयारियां जोरों पर रही और पूजन सामग्री से लेकर फल आदि की खदीदारी को सजे बाजार में भीड़ उमड़ रही है। जयकारों के बीच शहर से गांवों में देवी मईया विराजेंगी। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार शारदीय नवरात्रि के पहले दिन सुबह 8 बजकर 6 मिनट तक शुक्ल योग रहेगा। इसके बाद ब्रह्म योग शुरू होगा। शास्त्रों के अनुसार, शुक्ल व ब्रह्म योग में किए गए कार्यों को बेहद शुभ फलदायी माना गया है। आश्विन घटस्थापना  आज ही की जाएगी।     

        घटस्थापना मुहूर्त सुबह 6:11 से सुबह 7:51 तक रहेगा। इसकी अवधि 1 घंटा 40 मिनट तक रहेगी। घटस्थापना अभिजित मुहूर्त दिन में 11:48 से 12:36 तक रहेगा। अवधि 48 मिनट तक। श्रद्धालु नवरात्रि का व्रत प्रारंभ करेंगे। पूरे नौ दिन तक भक्ति में लीन रहेंगे। कुछ श्रद्धालु नवरात्रि के शुरूआत और अंतिम में व्रत रखकर मंगल कामना करते हैं। पूजा सामग्रियों की दुकानों पर खरीदारी के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।   

नवरात्रि पर्व आज से शुरू हो रहा है। ऐसे में मंदिरों में पूजा-पाठ के लिए विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। एसपी आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि जनपद के प्रमुख मंदिरों में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता प्रबंध किया गया है। मंदिरों व आसपास तैनात पुलिस पूरी तरह चौकन्ना रहेगी। शहर के प्रमुख मंदिरों में नवरात्र पर पूजा अर्चना करने के लिए अच्छी संख्या में श्रद्धालु आते है। ग्रामीण इलाकों में कई स्थानों पर नवरात्र के पहले दिन से ही पंडाल में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित कर पूजन शुरू हो जाएगा। ऐसे में श्रदालुओ को कोई परेशानी न हो, इसके लिए सभी इंतजाम पुख्ता किए गए हैं। सिविल ड्रेस में भी पुलिस कर्मी डयूटी करेंगे। मंदिरों पर महिला पुलिस कर्मी भी तैनात रहेंगी। चेन स्नेचिंग जैसी घटनाओं की रोकथाम के लिए पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध किया गया है।   

भानपुर। बस्ती मंडल मुख्यालय से करीब 27 किमी दूर बस्ती-डुमरियागंज मार्ग पर स्थित बैड़ा समय माता का मंदिर पिछले पांच दशक से श्रद्धालुओं के आस्था का केन्द्र बना हुआ है। क्षेत्रीय नागरिकों के अनुसार इस स्थल पर पूजा तो करीब सौ वर्षों से होती चली आ ही है। लेकिन पिछले 25-30 साल से लोगों का आवागमन काफी बढ़ गया है। मंगलवार को यहां हजारों की संख्या में लोग माता का दर्शन व पूजन करने आते हैं। 1993 में सोनहा थाने के तत्कालीन थानेदार सरोज सिंह ने समय माता के स्थल के विकास के लिए पहल शुरु की थी। थानेदार की पहल पर कई क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों ने सहयोग कर जागृत स्थल को मंदिर के रूप में परिवर्तित कराने का काम किया। मंदिर के पुजारी पंकज बाबा के अनुसार मन्दिर पर पूजा-पाठ के अलावा वैवाहिक समारोह भी होते हैं।   

        रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट

       

No comments: