Breaking

Sep 14, 2022

राधिका हत्याकांड: बेटा ही निकला मां का हत्यारोपी।

बस्ती । वाल्टरगंज थानाक्षेत्र के कठिनौली गांव की 60 वर्षीय राधिका को उनके ही बेटे अशोक ने मौत के घाट उतारा था। पुलिस के मुताबिक अशोक का भाई की पत्नी से अवैध संबंध है। जिसे लेकर अशोक की मां यानी राधिका विरोध करती थीं। जिसके कारण अशोक ने उन्हें रास्ते से हटाने के लिए खेत में ले जाकर हत्या कर दी। उसने हत्या का सारा दोष अपने फुफेरे भाई अनिल पर मढ़ दिया था। 31 अगस्त की शाम को की गई इस हत्या का मंगलवार को अनावरण करते हुए हत्यारोपी अशोक को गिरफ्तार कर लिया।    

       एसपी आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि हत्या के इस प्रकरण की छानबीन के लिए वाल्टरगंज थानेदार योगेश प्रताप सिंह और स्वाट प्रभारी गजेंद्र प्रताप सिंह व उनकी टीम को लगाया गया था। दोनों टीमों की तफ्तीश में पाया गया कि घटना को लेकर राधिका का पुत्र अशोक नामजद किए गए अनिल को गिरफ्तार करने के लिए लगातार दबाव बना रहा था। वहीं पुलिस ने अनिल के बारे में छानबीन की तो पता चला कि घटना के दिन अनिल एक ढाबे पर मौजूद था। वह कठिनौली गांव की तरफ गया ही नहीं था।   
इस हत्याकांड में नामजद किए गए अनिल की संलिप्तता न पाए जाने पर पुलिस ने राधिका के बेटे व मुकदमा दर्ज कराने वाले अशोक की गतिविधियों को शक के दायरे में लेकर छानबीन शुरू की। जिसमें पता चला कि अशोक के अपनी भाई की पत्नी से गहरे संबंध हैं। अपनी भाई की अनुपस्थिति में अशोक अपने भाई की पत्नी से वार्ता करता रहता था तथा हैदराबाद जा कर भी उससे मुलाकात की थी। इस तथ्य से अशोक और उसके भाई की पत्नी लगातार मुकरते रहे जबकि दोनों की लंबी बातचीत का पुलिस को साक्ष्य मिले थे।   

वहीं, घटना स्थल के आसपास मौजूद लोगों ने भी किसी बाहरी व्यक्ति के आते जाते नहीं देखा था। वहां सिर्फ अशोक और उसकी मां के मौजूद होने के प्रमाण मिले। पुलिस ने गंभीरता से पूछताछ की तो अशोक ने भाई की पत्नी से संबंध होना स्वीकार किया है। साथ ही उसने यह भी कबूल किया कि इस संबंध का विरोध करने पर उसने अपनी मां को मौत के घाट उतार दिया। एसपी के मुताबिक पुलिस इस हत्याकांड में अशोक के भाई की पत्नी की संलिप्तता की जांच कर रही है।    
31 अगस्त की शाम को करीब पांच बजे वाल्टरगंज थाना क्षेत्र के कठनौली गांव निवासी राधिका देवी (60) खेत में धान की निराई करने गईं थीं। जब देर तक वह वापस नहीं आई तो उनका बेटा गुड्डु उन्हें ढूंढने निकला। सबसे पहले वह अपने खेत में गया, जहां अपनी मां को खून से लथपथ पड़ा देख वह घबरा गया। उसकी मां का दोनों हाथ उसकी ही साड़ी से बांधा गया था। गुड्डू के शोर मचाने पर आसपास के लोग वहां जमा हो गए।  

परिवार व गांव के लोग राधिका देवी को निजी वाहन से लेकर जिला अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। मृतका राधिका देवी के बेटे अशोक कुमार ने तहरीर देकर बताया कि उनकी मां बुधवार की देर शाम धान के खेत में निराई करने गई थीं। आरोप है कि तभी वहां पहले से घात लगाकर बैठे अनिल कुमार निवासी मड़वानगर व उसके एक अन्य साथी ने धारदार हथियार से मां के गले, पीठ व सिर पर हमला कर उन्हें घायल कर दिया, जिससे उनकी मौत हो गई।

          रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट

No comments: