Breaking

Jan 11, 2023

एक हजार बीघा जमीन के दावेदारों में हिसंक झड़प तीन लोगों की मौके पर मौत, एक दर्जन के करीब घायल, पुलिस के आलाधिकारी मौजूद।

बरेली में बुधवार शाम जमीन अपनी अपनी दावेदारी जताने पर आपसी रंजिश में गोलियां बरसाकर तीन लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया। बीस से अधिक राउंड हुई आमने सामने फायरिंग से आस-पास के इलाके में दहशत फैल गई हैं। गोली लगने से एक दर्जन लोग घायल हैं जिनमें तीन लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही हैं। रात में ही तीन पड़ोसी थानों की पुलिस और पुलिस अधीक्षक देहात घटनास्थल पर मौजूद हैं। घायलों को अस्पताल भेजा गया है। बताया जा रहा है कि गैंगवार में यह वारदात हुई है।

घटना फरीदपुर थाना क्षेत्र के गोविंदपुर गांव की है। ग्राम पंचायत कटका रमन के पास कुडरी के खेतों में सरदार जी के झाले पर बुधवार देर शाम शुरू हुए जमीनी विवाद न  खूनी संघर्ष में बदल गया और अंधाधुंध गोलीबारी हुई। फायरिंग में सरदार परमवीर सिंह, देवेंद्र सिंह और एक अन्य की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, सुरेश सिंह समेत तीन लोग गंभीर घायल हो गए। फायरिंग की शुरुआत करने का आरोप सुरेश प्रधान के गुट पर है। 1 हजार बीघा जमीन को लेकर चल रहा है विवाद बरेली पुलिस बदायूं जिले की दातागंज की कटरी से होकर पुलिस मौके पर पहुंची। वहीं, आंवला के थानों की पुलिस भी मौके पर पहुंची। शवों को जिला अस्पताल की मोर्चरी भेजा गया है।

दरअसल, करीब 1 हजार बीघा जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। दो दिन पहले ही फरीदपुर के तहसीलदार ने करीब 53 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। बता दें कि 2 साल पहले भी यहां देसी राइफल से गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। साथ ही घटना में एक कुख्यात बदमाश का नाम भी चर्चा में है।
क्षेत्राधिकारी फरीदपुर गौरव सिंह ने बताया, "तीनों मरने वाले पंजाब के रहने वाले हैं। खादर इलाके में इस ट्रिपल मर्डर का आरोप पूर्व प्रधान सुरेश सिंह और उसके समर्थकों पर है। सुरेश सिंह रायपुर हंस का पूर्व प्रधान है।"

घटनास्थल पर DIG / SSP बरेली अखिलेश चौरसिया भी मौजूद हैं। सीओ का कहना है कि गोविंदपुर गांव बदायूं जिले से सटा हुआ है। CO ने 135 बीघा जमीन को लेकर दोनों पक्षों में विवाद बताया है। दोनों पक्ष जमीन पर अपना-अपना दावा करते हैं।
 बताया जा रहा है कि दोनों तरफ से करीब एक घंटे तक फायरिंग हुई है। गोविंदपुर गांव में फरीदपुर, भमोरा और दातागंज थाने का बॉर्डर लगता है। यहां इस खूनी संघर्ष को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। गैंगवार से आस-पास के इलाके में दहशत फैल गई है। वहीं, तमाम वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के CUG नंबर रिसीव नहीं हो रहे हैं।

No comments: