Breaking

Nov 5, 2022

आरक्षण को लेकर बढ़ी बेचैनी, शासन को भेजने की तैयारी

सिद्धार्थनगर। नगर निकाय चुनाव करीब होने से अध्यक्ष व वार्ड सभासदों की आरक्षण सूची को लेकर चुनाव लड़ने को इच्छुक लोगों में बेचैनी बढ़ी गई है। अध्यक्ष से लेकर सभासदों की सीटों के आरक्षण का प्रस्ताव तैयार होने के बाद उसे शासन भेजने की तैयारी है। आरक्षण जारी होने के बाद कुछ की इच्छाएं धरी रह जाएंगी कुछ की लॉटरी लग जाएगी।   

         जिले में दो नगर पालिका व नौ नगर पंचायतें हैं। नगर पालिका परिषद सिद्धार्थनगर व नगर पंचायत शोहरतगढ़ का सीमा विस्तार हुआ है। नौ नगर पंचायतों में 4 पहले से ही मौजूद थी इसबार पांच नई का गठन किया गया है जहां पर भी चुनाव होना है। मतदाता सूची लगभग तैयार होने के बाद अब बारी अध्यक्ष से लेकर वार्ड के आरक्षण की है। प्रशासन द्वारा मंथन के बाद आरक्षण सूची तैयार कर ली गई है उसे मंजूरी के लिए शासन के पास भेजने की तैयारी है। शासन की मंजूरी के बाद ही पता चल सकेगा कि किस निकाय में अध्यक्ष से लेकर सभासदों के लिए आरक्षण की क्या स्थिति है।

सिद्धार्थनगर नपाप का सीमा विस्तार नहीं बढ़ा वार्ड

शहर की नगर पालिका का सीमा विस्तार हुआ है लेकिन वार्डों की संख्या में कोई वृद्धि नहीं हुई है। अब भी पहले की ही तरह 25 वार्ड रहेंगे। वार्ड एक लाख से ज्यादा की आबादी पर होते हैं। 2011 की जनगणना के अनुसार परिसीमन के बाद कुल आबादी 64 हजार ही है।  

ये बनी हैं नई नगर पंचायतें

बिस्कोहर, इटवा, बढ़नी चाफा, भारतभारी व कपिलवस्तु को नगर पंचायत का दर्जा मिला है। यहां पर पहली बार चुनाव होना है। पहले से सिद्धार्थनगर व बांसी नगर पालिका के अलावा नगर पंचायत उस्का बाजार, शोहरतगढ़, बढ़नी व शोहरतगढ़, डुमरियागंज मौजूद है।

नगर निकायों की आरक्षण सूची फाइनल की जा रही है। आरक्षण सूची फाइनल होने के बाद शासन को भेजी जाएगी। अभी भी दो दिन का समय लग सकता है।  


          रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट

No comments: