Breaking

Oct 19, 2022

शासन को भेजी गई सदर विधायक के विशेषाधिकार हनन की जांच रिपोर्ट

बस्ती ।  समाजवादी पार्टी के बस्ती सदर से विधायक महेन्द्र नाथ यादव ने सरकारी कार्यक्रमों में अपनी उपेछा करने पर विशेषाधिकार हनन पर सरकार से कार्रवाई करने का अनुरोध किया है। उन्होंने प्रदेश के संसदीय कार्यमंत्री को इस संबंध में बाकयदे पत्र के जरिए संबंधित अधिकारयों पर कार्यवाई करने की बात लिखी है। उन्होंने कहाकि वह सदर विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचित सदस्य हैं सरकारी कार्यक्रमों की जानकारी लेना, उसमें शामिल होना उनका संवैधानिक अधिकार है। एक निर्वाचित विधायक के रूप में यह उनका विशेषाधिकार है कि वह सरकारी अधिकारियों से अपने निर्वाचन क्षेत्र से संबंधित कार्यों के संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त करें और जानकारी प्रदान न करें, इसके बजाय, सार्वजनिक रूप से उनका अपमानकरना उनके उल्लंघन के समान है। उनके क्षेत्र में सीएचसी मरवटिया में आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव संचारी रोग नियंत्रण अभियान कार्यक्रम में उन्हें आमंत्रित नही किया गया, इसी प्रकार सीएचसी सांउघाट में भी अमृत महोत्सव स्वास्थ्य मेले में भी उन्हें नही आमंत्रित किया गया। इस मामले को शासन ने गंभीरता से लेते हुए डीएम बस्ती से विशेषाधिकार हनन के संबंध में संबंधित अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा था। दोनों की सीएचसी के प्रभारी चिकित्साधकारियों ने अपने स्पष्टीकरण में एक ही बात लिखी है कि उनके वहां अमृत महोत्सव के कार्यक्रम में पहले से घोषित तिथि बदल कर तीन दिन पहले हो गई थी ऐसे में सदर विधायक से संपर्क करने की कोशिश की गई थी परंतु उनसे संपर्क नही हो पाया, याद रखेंगे भविष्य में इसकी पुनरावृति नही होने पाए।  

        विधायक सदर से विशेषाधिकार हनन से संबंधित प्रकरण में सीडीओ डॉ. राजेश कुमार प्रजापति ने बताया कि इस मामले में संबंधित प्रभारी चिकित्साधिकारियों से सीएमओ के माध्यम से स्पष्टीकरण लेकर रिपोर्ट शासन को भेज दी गई है। कार्रवाई के बात पूछे जाने पर उनका कहना था कि शासन से रिपोर्ट स्वीकार होने न होने पर जैसा मार्गदर्शन मिलेगा उसके आधार पर अगली कार्रवाई जिलाधकारी के आदेश पर की जाएगी।  

       रुधौली बस्ती से अजय पांडे की रिपोर्ट


No comments: