Breaking

Nov 4, 2022

करनैलगंज:हर गली चौराहों पर महँगी क़ीमतो पर बिक रहा गन्ना


करनैलगंज/गोण्डा -  देवउठनी एकादशी के पारंपरिक पर्व पर लोगों ने बाजारों में खूब पारंपरिक खरीदारी की। शुक्रवार सुबह से ही नगर के बस स्टॉप,गाड़ी बाजार,मौर्य नगर, सकरौरा सहित प्रमुख चौराहों पर गन्ने  व सिंघाड़े के साथ ही साथ लोगो ने सेल्हे की लकड़ी से बने हड़ाहड़वाई (गट्ठर)की खरीददारी की। वहीं मंहगाई के इस दौर में सेल्हे के लकड़ी की एक गट्ठर की कीमत 20 से ₹25 ली जा रही है तो गन्ना    10, 15 ,20 तथा 25 रुपए प्रति पीस के हिसाब से बिका। महंगाई के इस दौर में लोग परंपराओं का निर्वहन तो कर रहे हैं लेकिन महंगाई की मार से अब पहले की तरह खरीदारी नहीं हो रही। बड़ी एकादशी के रूप में मनाए जाने वाला यह पर्व कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष में एकादशी तिथि को मनाई जाती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार आज के दिन से भगवान विष्णु निंद्रा से जग जाते हैं और सृष्टि के संचालन का भार संभालते हैं। वहीं दूसरी तरफ महिलाएं गन्ने की अग्रिम भाग जिसे अगोड़ा कहा जाता है से सूप बजाती हैं और घर से दरिद्रता को दूर करने की श्री हरि विष्णु से प्रार्थना करती हैं।

No comments: