Breaking

Jan 25, 2023

गणतन्त्र दिवस समारोह की तैयारियों में जुटा जिला प्रशासन, सौंपी गई जिम्मेदारी



 गोण्डा - 26 जनवरी 2023 को मनाये जाने के क्रम में एक बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में  सम्पन्न हुई, जिसमें कार्यक्रम से सम्बन्धित जनपद स्तरीय अधिकारियों ने प्रतिभाग किया। बैठक में गणतन्त्र दिवस समारोह मनाये जाने के सम्बन्ध में गत वर्ष सम्पन्न कार्यक्रम की रूपरेखा पढ़कर

सुनायी गई तथा कोविड-19 के प्रभाव के दृष्टिगत कार्यक्रम आयोजित किये जाने हेतु उपस्थित लोगो से उनका बहुमूल्य सुझाव प्राप्त किया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि गत वर्ष की भांति आगामी गणतन्त्र दिवस समारोह सुव्यवस्थित ढंग से सादगी के साथ कोचिङ-19 के दृष्टिगत कोरोना वायरस से बचाव हेतु शासन द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए स्थानीय सहूलियत और आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर मनाया जाय। सभी सरकारी भवनों पर प्रातः काल 8:30 बजे झण्डा अभिवादन हो और इस अवसर पर राष्ट्रगान का गायन एवं संविधान में उल्लिखित संकल्प का स्मरण किये जाने की व्यवस्था की जाय, शिक्षण संस्थाओं में राष्ट्रध्वज प्रातः 10:00 बजे फहराया जाय। इस अवसर पर राष्ट्रीय एकता, अखण्डता, धर्म निरपेक्षता और साम्प्रदायिक सौहार्द की भावना को बलवती बनाने पर बल दिया जाय।

समस्त शिक्षण संस्थाओं में इस अवसर पर ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन किया जाना चाहिए जिसमें राष्ट्रगान (जन-गण-मन ) का सामूहिक गायन भी सम्मिलित हो। विद्यार्थियों को संक्षेप में स्वतन्त्रता संग्राम का इतिहास बताया जाय और सशस्त्र सैन्य बलों के बलिदान को नमन करते हुए देश भक्तों के जीवन के प्रेरक प्रसंग दोहराये जायें, जिससे राष्ट्रीय चेतना विकसित हो नाटक, विचार गोष्ठी तथा निबन्ध लेखन की साइकिल रेस आदि का भी आयोजन यथासम्भव कराया जाय। नाटक, विचार गोष्ठी तथा निबन्ध लेखन की प्रतियोगिताओं का भी आयोजन यथासम्भव कराया जाय।

उक्त अवसर पर दिन में शिक्षण संस्थाओं में खेल-कूद, साइकिल रेस दंगल आदि का आयोजन किया

जाय। तीसरे पहर में एन०सी०सी०, स्काउट और गाइड आदि का सम्मिलित रूट मार्च कराया जाय प्रस्ताव आने पर

यह निर्णय लिया गया कि जिला विद्यालय निरीक्षक एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी समस्त शिक्षण संस्थाओं को

प्रेरित करते हुए उनके द्वारा राष्ट्रीय भावना से ओत-प्रोत झांकियां निकालने के निर्देश दें। इन झांकियों में तीन

सबसे अच्छी झाँकियों को पुरस्कृत किया जाय पुरस्कार की व्यवस्था पी०डी०डी०आर०डी०ए० / उपजिलाधिकारी,
गोण्डा (सदर) द्वारा की जायेगी एवं वितरण जिलाधिकारी द्वारा किया जायेगा। सायंकाल स्थानीय टाउन हाल में एक विशेष आम सभा आयोजित की जाएगी जिसमें देश भक्तों एवं स्वाधीनता के प्रसंगों को विभिन्न शिक्षण संस्थाओं द्वारा नाटक का रूप देते हुए मंचन किया जाय प्रकाश, ध्वनि, मंच एवं बैठने की व्यवस्था अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद गोण्डा करेंगे बच्चों को घर पहुंचाने की व्यवस्था ए०आर०टी०ओ० गोण्डा द्वारा की जायेगी और जन साधारण को विशेष रूप से याद दिलाने की चेष्टा की जाय कि हमारे अगणित देश भक्तों तथा अमर बलिदानियों ने जीवन भर संघर्ष कर जो स्वाधीनता हासिल की है, वह अमूल्य है और उसकी रक्षा का अग्रेतर दायित्व हमारे ऊपर और नई पीढ़ी पर है। लोगों को तिरंगे झण्डे के गौरवशाली इतिहास तथा इसके महत्व के बारे में बताया जाय।
झण्डारोहण कार्यक्रम के तुरन्त बाद पुलिस परेड की जाय परेड की सलामी मण्डलायुक्त / जिलाधिकारी लेंगे। परेड में जिले के स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों तथा सैन्य विधवाओं/ अभिभावकों को भी ससम्मान आमंत्रित किया जाय। गणतन्त्र की मूल अवधारणाओं पर प्रकाश डालते हुए लोगों को प्रेरणा दी जाय कि देश व समाज का निर्माण प्रेम सद्भावना से होता है, घृणा से नहीं, मेल-जोल से होता है, बैर भाव से नहीं. एक-दूसरे के धर्म का आदर करने से होता है, अनादर करने से नहीं।
सार्वजनिक संस्थाओं और पंचायतों के कार्यकर्ताओं तथा जनकल्याण का कार्य करने वाली अन्य समितियों की सहायता से साक्षरता को बढ़ावा देने व छुआ-छूत की विभीषिका को दूर करने का विशेष रूप से प्रयास किया जाय धर्म, जाति, रंग पर आधारित सभी भेदभावों को मिटाकर प्रदेश की प्रगति और खुशहाली के प्रति भावनात्मक एकता स्थापित करने का प्रयास किया जाय। सभी धर्मों और सम्प्रदायों के लोग भारत के नागरिक हैं और उनमें पारस्परिक सद्भावना व एकता से ही राष्ट्र उन्नति कर सकता है इस हेतु मानसिक रूप से लोगों को प्रेरित करते हुए, अधिकतम जनसहभागिता सुनिश्चित कराई जाए।

No comments: